विशेषज्ञ ने बताया कि टाइटन  पनडुब्बी में सवार सभी लोगों की  हो जायेगी मौत ? 22 जून दोपहर तक हो जाएगी ऑक्सीजन खत्म !!!


Titanic Submarine Missing: 

     टाइटैनिक का मलबा देखने के लिए समुद्र में गोता लगाने वाली पर्यटक पनडुब्बी खो गई है और इसका अभी भी पता नहीं चल सका है। लापता टाइटैनिक पनडुब्बी में सवार लोगों के पास आज दोपहर तक का ही ऑक्सीजन बचा है। वहीं अब दावा किया जा रहा है कि शायद इसमें सवार लोग पहले ही मर चुके हों।

• रविवार से ही टाइटैनिक पनडुब्बी लापता है.

• इस पनडुब्बी में पांच लोग सवार हैं जिनके पास बेहद कम ऑक्सीजन है.

• दावा किया जा रहा है कि शायद इसमें सवार लोगों की पहले ही मौत हो गई है.

    टाइटैनिक का मलबा देखने के लिए समुद्र में गोता लगाने वाली पर्यटक पनडुब्बी को अभी भी खोजा जा रहा है। इस लापता पनडुब्बी में एक पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश अरबपति और उनका बेटा समेत 5 लोग सवार हैं। अमेरिकी नौसेना समेत दुनिया भर से बचावदल रविवार को लापता हुई इस पनडुब्बी को खोजने में लगे हैं, लेकिन इसका कोई सुराग नहीं लगा है। गणना के हिसाब से पनडुब्बी में सवार लोगों के पास कुछ ही घंटे का ऑक्सीजन बचा है, लेकिन अब एक रिपोर्ट में कहा बुधवार को आई रिपोर्ट के मुताबिक जब इस पनडुब्बी ने डुबकी लगाई थी तब इसमें 96 घंटे का ऑक्सीजन था। लेकिन गोता लगाने के कुछ देर बाद ही पनडुब्बी गायब हो गई और तब से इसका ऑक्सीजन लेवल लगातार घट रहा है। माना जा रहा है कि गुरुवार की सुबह 11 या 12 बजे तक ऑक्सीजन पूरी तरह खत्म हो जाएगा। हालांकि रॉयल नेवी के रिटायर्ड अनुभवी डाइवर रे सिंक्लेयर ने दावा किया है कि संभव है कि पनडुब्बी में सवार सभी लोग जहरीली कार्बन डाइऑक्साइड से मर गए हों।

पनडुब्बी में भर गई जहरीली गैस?

डेली एक्सप्रेस अमेरिका से बात करते हुए रे सिंक्लेयर ने कहा, 'इन पनडुब्बियों में बैटरियां होती हैं, जो सीमित समय तक ही चलती हैं। इनमें कार्बनडाइऑक्साइड (CO2) स्क्रबर होते हैं जो CO2 को अवशोषित कर लेती हैं। अगर ये काम न करें तो ऑक्सीजन खत्म होने से पहले ही लोगों का दम घुट सकता है। जहरीली गैस उन्हें पहले ही मार डालेगी। अंदर गैस भरने से उन्हें बहुत जल्दी नींद आ जाएगी और वह धीरे-धीरे मर जाएंगे। CO2 को कहीं भी निकलने की जगह नहीं है और मुझे डर है कि वह पहले ही मर चुके होंगे।'

पाकिस्तानी अरबपति हैं सवार

     इस पनडुब्बी पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिक और एंग्रो कोर्प के उपाध्यक्ष शहजादा दाऊद और उनका 19 साल का बेटा सुलेमान शामिल हैं। पनडुब्बी ने इन लोगों को टाइटैनिक जहाज का मलबा दिखाने के लिए अटलांटिक महासागर में गोता लगाया था। उनकी यह यात्रा आठ घंटे की होने वाली थी। दाऊद के परिवार के मुताबिक उन्हें फोटोग्राफी का शौक है। उनका बेटा यूनिवर्सिटी में पढ़ता है, जिसे विज्ञान में बेहद रुचि है। दाऊद की पत्नी और बेटी पनडुब्बी के समुद्र में उतरने के वक्त एक जहाज पर सवार थीं और उनकी सुरक्षित वापसी का इंतजार कर रही हैं। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी और उनके कट्टर प्रशंसक

History of Honda Company,

पद्म भूषण पुरस्कार कभी शुरू हुआ और ये पुरस्कार किन लोगो को दिया जाता है !!